Tuesday, 9 September 2014

HINDI STATUS 6-8

6>>>>   उसके एक फरेब ने, हस्ती मिटा दी मेरी.. मिल जाए अगर तो पूंछू, क्या था गुनाह मेरा????



7>>>>   जुआ तो वो खेलते है
जीसे अपनी किस्मत आझमानी है
हम तो किस्मत से ही जुआ खेलते है



8>>>>>   कहाँ कबूली जाती है आजकल दुआ फकीरों की !
खुदाभी सुनता है ऐ दोस्त सिर्फ
सदा अमीरों की...